Header Ads

कोरोना का नया स्ट्रेन जांचने के लिए देश में केवल एक लैब

नई दिल्ली।

ब्रिटेन में पाए गए कोरोना के नए स्ट्रेन से बचाव को लेकर देश में बहस हो रही है। ब्रिटेन से लौटने वालों में केरल में 8 ,कर्नाटक में 14, राजस्थान में 4, मध्यप्रदेश में 2 और छत्तीसगढ़ में 4 व ओडिशा में 1 मरीज पॉजिटिव पाया है। लेकिन बड़ा सवाल यह भी खड़ा हुआ है कि इस नए स्ट्रेन को जांचने का जि मे देश की सिर्फ एकमात्र लैब के भरोसे है।

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी, पुणे में आनुवांशिक अनुक्रमण (जेनेटिक सिक्वेंसिंग) से नए स्ट्रेन का पता चल पाएगा। सभी सैंपल वहीं भेजे गए हैं। देश में 25 नवंबर से 23 दिसंबर के बीच ब्रिटेन से करीब छह हजार लोग आए हैं।

दक्षिण अफ्रीका में दो नए वैरिएंट

दक्षिण अफ्रीका में कोविड-19 के दो नए वैरिएंट पाए गए हैं। दक्षिण अफ्रीका के स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि उसके यहां पाया गया वैरिएंट ब्रिटेन में पाए गए वैरिएंट से अलग है।

हर राज्य के 5 प्रतिशत मरीजों में खोजेंगे नया स्ट्रेन

ब्रिटेन में पाए नए स्ट्रेन की गंभीरता को देख केंद्र सरकार ने देश के उन इलाकों में भी इसकी तलाश शुरू कर दी है, जहां इस देश से कोई नहीं लौटा है। अब हर राज्य में पांच फीसदी कोरोना मरीजों के नमूनों की अनिवार्य रूप से पूरी जिनोम सिक्वेंसिंग होगी। जहां भी इस स्ट्रेन का मरीज मिलेगा वहां सख्त कंटेनमेंट योजना लागू होगी।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal
Read The Rest:patrika...

No comments

Powered by Blogger.