Header Ads

आखिर क्यों पड़ रही है रिकॉर्डतोड़ सर्दी, दिल्ली में शिमला से भी कम तापमान

नई दिल्ली। उत्तर भारत से आ रही बर्फीली हवाओं की वजह से मैदानी इलाकों में लोगों की कंपकंपी छूट रही है। अधिकतर हिस्सों में शीत लहर का प्रकोप बरकरार है। मौसम विभाग के अनुसार उत्तर भारत में अगले सप्ताह भी रात का तापमान सामान्य से कम रहेगा। जानकारों की मानें तो पहाड़ों पर पड़ रही भारी बर्फ की वजह से ठंड बढ़ रही है।

सर्दी का सितम जारी
शाम होते ही गलन बढऩे से लोगों की परेशान बढ़ी है। अब सर्दी की थर्ड डिग्री टॉर्चर यानी हांडकंपाने वाली गलन जारी है। अमृतसर लुधियाना, करनाल और हिसार में 3 डिग्री से कम क्रमश: 0.6 डिग्री सेल्सियस, 2.8 डिग्री सेल्सियस, 2.3 डिग्री सेल्सियस, 2.8 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। राष्ट्रीय राजधानी में शनिवार को न्यूनतम तापमान गिरकर 3.9 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। यहां सर्दी ने 10 साल का रेकॉर्ड तोड़ दिया है। जबकि शिमला में न्यूनतम तापमान 4 डिग्री से ज्यादा है।

photo_2020-12-21_13-00-28.jpg

गुलमर्ग में -11 डिग्री तक तापमान
दूसरी ओर पहाड़ों ने बर्फ की सफेद चादर ओढ़ ली है। कश्मीर, हिमाचल में कई इलाकों में पानी जम जाने की वजह से आपूर्ति बाधित हो गई है। श्रीनगर में डल झील जम गई है। घाटी के ज्यादातर इलाकों में पारा 4 से लेकर 6 डिग्री नीचे तक गिर गया है। कश्मीर में गुलमर्ग का न्यूनतम तापमान लुढ़क कर -10.6 डिग्री तक पहुंच गया है। पंजाब और हरियाणा में भी शीतलहर तेज हुई है। आदमपुर में पारा शून्य से 1.9 डिग्री सेल्सियस नीचे तक लुढ़क गया।

इन राज्यों में सर्दी का ऑरेंज अलर्ट जारी
लगातार बढ़ रही शीतलहर, कोहरे व गलन के कारण कई राज्यों ने ऑरेंज अलर्ट जारी कर दिया है। दिल्ली, हरियाणा , उत्तर प्रदेश के 21 जिलों, बिहार के 26 जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग चार तरह की चेतावनी जारी करता है। यह मौसम की स्थिति पर निर्भर करता है। हरे, पीले, नारंगी व लाल रंग का इस्तेमाल करता है। नारंगी रंग का मतलब है कि मौसम में बदलाव के लिए तैयार हो जाइए।

chhindwara temperature
IMAGE CREDIT: patrika

30 दिसंबर तक ऐसे ही रहेगा मौसम
मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार अगले एक सप्ताह तक कोहरे-धुंध और शीतलहर का प्रकोप भी बना रहेगा। वातावरण में नमी की अधिकता के कारण 21-22 को सुबह के समय धुंध रहने की संभावना है। 24-30 दिसंबर तक उत्तर-पश्चिम, मध्य व पूर्वी भारत में न्यूनतम तापमान सामान्य से 2-6 डिग्री सेल्सियस रह सकता है। पहाड़ों पर जितनी बर्फबारी होगी, मैदानों में उतनी ही ठंड बढ़ेगी।

क्यों रेकॉर्ड तोड़ रही सर्दी
मैदानी राज्यों में ठंड जो सितम ढा रही है, उसकी मुख्य वजह पहाड़ों पर भारी बर्फबारी है। उत्तरी भारत के ज्यादातर हिस्सों में औसत न्यूनतम तापमान 5 डिग्री सेल्सियस से नीचे रेकॉर्ड किया गया है।

किन राज्यों में कितना तापमान?
दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में शिमला से भी कम तापमान दर्ज किया गया। शिमला में 4.4 डिग्री सेल्सियस तो दिल्ली में न्यूनतम तापमान 3.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया, जोकि शिमला से 0.5 डिग्री सेल्सियस कम है। दिसंबर के आखिर तक न्यूनतम तापमान 2 डिग्री सेल्सियस रह सकता है।

मध्यप्रदेश: प्रदेश के प्रदेश के 23 वेदर स्टेशनों में न्यूनतम तापमान 3 से 10 डिग्री के बीच रेकॉर्ड किया गया। इनमें 6 ऐसे हैं जहां न्यूनतम तापमान 5 डिग्री से नीचे रेकॉर्ड किया गया है।

राजस्थान: प्रदेश में कड़ाके की सर्दी जारी है। माउंट आबू में न्यूनतम तापमान शून्य से एक डिग्री सेल्सियस कम व चूरू में शून्य से 0.1 डिग्री सेल्सियस नीचे रेकॉर्ड किया जा चुका है। अगले 4-5 दिनों तक यहां न्यूनतम तापमान 1 डिग्री के आसपास बना रहेगा।

हिमाचल प्रदेश: प्रदेश के 12 शहरों का तापमान माइनस डिग्री में दर्ज किया गया। मनाली, केलॉन्ग, सोलन, चंबा में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। हिमाचल में सीजन की सबसे ठंडी रात रही। केलांग में तापमान शून्य से नीचे 12.1 डिग्री सेल्सियस पर चला गया।

snowfall_in_himachal.jpg

....और बर्फबारी का आनंद लेने पहाड़ों की ओर पर्यटक
बर्फबारी देखने के लिए पर्यटक पहाड़ों का रुख कर रहे हैं। हिमाचल, जम्मू-कश्मीर में सैलानियों की भीड़ है। हालांकि अधिकांश मार्ग बंद हैं। कुछ मार्गों पर दिन के समय थोड़ी देर के लिए आवागमन खोला जा रहा है। ऊपरी शिमला के 100 रूट पूरी तरह से बंद हैं। वहीं जम्मू में भी कई जगहों पर मार्ग बाधित हैं।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal
Read The Rest:patrika...

No comments

Powered by Blogger.