Header Ads

Sushant Singh Rajput सुसाइड केस में CBI जांच की बात को मिला केंद्रीय मंत्री का समर्थन, बोलें- 'जरूर होनी चाहिए सीबीआई जांच'

नई दिल्ली। 14 अगस्त को दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ( Sushant Singh Rajput Death ) के देहांत को पूरे दो महीने हो गए हैं, लेकिन आज भी सुशांत की मौत का असली सच सामने नहीं आ पाया है। दो महीने से चल रही जांच में कई बड़े खुलासे हो रहे हैं। आरोप प्रत्यारोप का सिलसिला भी जारी है। ऐसे में अब केवल भारत से ही बल्कि कई और देशों से भी सुशांत के लिए न्याय ( Justice For Sushant Singh Rajput ) की मांग उठने लगी है। सोशल मीडिया पर बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक सुशांत की मौत के पीछे की सच्चाई को जानना चाहते हैं। सोशल मीडिया पर #JusticeForSSR तेजी से ट्रेंड कर रहा है। वहीं धीरे-धीरे इस मामले में अब राजनीति भी होने लगी है। आए दिन मंत्रियों की तरफ से भी सुशांत केस ( political reaction in Sushant Singh Rajput ) में बयानबाजी हो रही है।

 

जहां एक ओर महाराष्ट्र सरकार ( Maharashtra Government does not want a CBI inquiry ) सुशांत सिंह राजपूत के लिए सीबीआई जांच( Sushant Singh Rajput CBI Investigation ) करवाने के लिए शुरूआत से मना करती हुई आ रही है। वहीं बिहार सरकार ( Bihar Government ) है कि लगातार सीबीआई जांच होने पर दबाव देती हुई नज़र आ रही है। यही नहीं अब बिहार सरकार को केंद्र सरकार ( Bihar government is getting the support of central government ) की तरफ से समर्थन मिलता हुआ भी दिखाई दे रहा है।

 

 

दरअसल, सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस ( Sushant Singh Rajput Suicide Case ) में केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ( Central Minister Ramdas Athawale ) भी सामने आए हैं। हाल ही में न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बात करते हुए उन्होंने कहा कि "सुशांत सिंह राजपूत केस में सीबीआई जांच जरूर ( CBI Investigation in Sushant Singh Rajput Suicide Case ) होनी चाहिए। जब तक जांच नहीं होगी तब तक स्पष्ट रूप से कुछ भी सामने नहीं आएगा। मुंबई पुलिस ( Mumbai Police ) ने इस मामले को हल कराने में इतने दिन लगा दिए हैं। जिसके बाद से अब उन पर भरोसा नहीं किया जा सकता है।"

 

केंद्रीय मंत्री ने मुंबई पुलिस की जांच (Mumbai Police Investiagation) पर कई सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने मुंबई पुलिस को गैरजिम्मेदार बताते हुए उनपर विश्वास ना होने की बात कही। बता दें सुशांत के देहांत ( Mumbai Police Investiagted Sushant Case ) के बाद ही मुंबई पुलिस ने उसे सुसाइड का नाम दे दिया था। वहीं पूरे ही मामले में बस लोगों का बयान ही दर्ज करती रही। वहीं बिहार पुलिस ( Mumbai police not supported Bihar Police ) को जांच में सहयोग ना करने पर भी मुंबई पुलिस पर कई उंगलियां उठाई गई थीं। यही नहीं सुशांत की एक्स मैनेजर दिशा सालियान( Disha Salian Suicide Case ) केस में भी मुंबई पुलिस ने बिना छानबीन किए केस को बंद कर दिया था। यही वजह है कि सुशांत केस में किसी को भी मुंबई पुलिस पर भरोसा नहीं है।

 

 



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal
Read The Rest:patrika...

No comments

Powered by Blogger.