Header Ads

Mumbai में Monsoon ने दी दस्तक, अगले दो दिनों तक मूसलाधार बारिश की संभावना, ऑरेंज अलर्ट जारी

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ( coronavirus ) संकट के बीच देश में मॉनसून ( Monsoon In India ) का आगमन हो चुका है। वहीं, अब महाराष्ट्र ( Monsoon in Maharashtra ) की राजधानी मुंबई ( Mumbai Rain ) में मॉनसून ने दस्तक दे दी है। IMD का कहना है अगामी दो दिनों तक यहां मूसलाधार बारिश ( Heavy Rain ) की संभावना है। वहीं, कई इलाकों में ऑरेंज अलर्ट ( Orange Alert ) भी जारी कर दिया गया है।

अगले दो दिनों में भारी बारिश की संभावना

मौमस विभाग ( IMD ) का कहना है कि जून के पहले पखवाड़े में 50 प्रतिशत बारिश दर्ज की गई है। निजी मौसम पूर्वानुमान एजेंसी स्काईमेट ( Skymet ) ने उम्मीद जताई है कि गुरुवार तक मुंबई ( Heavy Rain in Mumbai ) में मूसलाधार बारिश की संभावना है। मौसम विभाग के अनुसार, जून महीने के लिए 493.1 मिमी बारिश की आवश्यकता है। वहीं, 15 जून शाम 5:30 बजे तक IMD ने 245.5 मिमी बारिश दर्ज किया है। सोमवार दोपहर तक अंधेरी वेस्ट ( Andheri West ) और ईस्ट ( Andheri East ) में बीएमसी ( BMC ) के स्वचालित मौसम स्टेशन ने क्रमशः 60 मिमी और 57 मिमी बारिश दर्ज की है। बारिश के कारण अंधेरी मेट्रो में जलभराव हो गया और यातायात को कुछ समय के लिए स्थगित करना भी पड़ा।

'Nisarga Cyclone' के कारण मॉनसून ने पकड़ी रफ्तार

वेदरमेन का कहना है कि निसर्ग चक्रवाती तूफान ( Nisarga Cyclone ) के कारण राज्य में मॉनसून ने काफी तेज रफ्तार पकड़ी है। 14 और 15 जून को (8.30am-8.30 बजे) के बीच 24 घंटों में मॉनसून की शुरुआत की घोषणा की गई थी। IMD का कहना है कि बीते 24 घंटे में कोलाबा में 27.6 मिमी बारिश दर्ज की गई। जबकि, सांताक्रुज इलाके में 245.5 मिमी की उपेक्षा 49.7 मिमी बारिश दर्ज की गई है।

कुछ इलाकों में ऑरेंज अलर्ट जारी

आईएमडी पश्चिमी क्षेत्र के उप-महानिदेशक के एस होसलीकर ने कहा कि बारिश की यह मामूली शुरुआत है। आने वाले सप्ताह के पश्चिमी तट पर ज्यादा बारिश होने की संभावना है। गौरतलब है कि शहर के कुछ हिस्सों में सोमवार को बारिश हुई, हालांकि लगातार बारिश नहीं हुई थी। IMD ने ठाणे और पालघर के कुछ हिस्सों के लिए मंगलवार और बुधवार के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। विभाग का कहना है कि यहां उम्मीद से ज्यादा बारिश हो सकती है। वहीं, शहर में पानी की आपूर्ति करने वाली सात झीलों पर अभी तक बारिश नहीं हुई है। सोमवार को झीलों में 1.8 लाख मिलियन लीटर यानी कुल आवश्यक जल भंडार का 12.4% था। यह पिछले वर्ष 97 हजार मिलियन लीटर (6.70%) से अधिक है।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal
Read The Rest:patrika...

No comments

Powered by Blogger.